सिख इतिहास बिगाड़ने के लिए कांग्रेस सरकार ज़िम्मेवार : लौंगोवाल


अमृतसर, 9 नवम्बर (राजेश कुमार) : शिरोमणि कमेटी द्वारा आज सिख प्रवक्ताओं और बुद्धिजीवीयों की एकत्रता स्थानीय तेजा सिंह समुंद्री हाल में की गई, जिसकी अध्यक्षता प्रधान गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने की। इस एकत्रता में सभी ने गुर इतिहास बिगाड़ने के मामले में पंजाब सरकार की कड़े शब्दों में निंदा की और इस संबंधी कानूनी कार्यवाही के लिए प्रस्ताव भी पास किया गया। इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते भाई लौंगोवाल ने कहा कि गुर इतिहास बिगाड़ने के मामले में पूरे सिख कौम में रोष की लहर पाई जा रही है। उन्होंने इसके लिए कांग्रेस सरकार को आरोपी मानते हुए कहा कि इस निंदनीय कार्य के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को पूरे सिख कौम से माफी मांगनी चाहिए। उन्हाेंने कहा कि इस मामले को शिरोमणि कमेटी के आगामी जनरल हाऊस की बैठक में भी विचारा जायेगा। उन्होंने कहा कि इस मामले पर सिख प्रवक्ताओं और बुद्धिजीवीयों ने एक स्वर में पंजाब सरकार की निंदा करते हुए हर कानूनी कार्यवाहीं के लिए अपना सहयोग देने का समर्थन किया है। लौंगोवाल ने स्पष्ट कहा कि इस मामले में जहां मुख्यमंत्री माफी मांगे वहीं संबंधित लेखकों और विद्वानों पर भी सख्त कार्यवाहीं की जानी चाहिए जिन्हाेंने ऐसा घिनौना कार्य किया है। इस एकत्रता में बीबी जगीर कौर, बाबा बिद्धीचंद संप्रदाय के मुखी बाबा अवतार सिह, बाबा जगजीत सिंह, बाबा तेजा सिंह, शिरोमणि पंथ अकाली बुढ्डा दल द्वारा भाई सुखजीत सिंह, भाई अमरजीत सिंह, डा. सुखदर्शन सिंह, डा. रूप सिंह, सिख विद्वान डा. परमवीर सिंह, स. इन्द्रपाल सिंह, कर्नल निशान सिंह, डा. तेजिंदर कौर, डा. हरभजन सिंह, डा. सूबा सिंह, डा. धरमिंदर सिंह आदि ने भी अपने विचार पेश किये।