राम मंदिर मामले में मोदी सरकार की नीयत पर संदेह नहीं : विहिप अध्यक्ष


इंदौर, 28 जनवरी (भाषा) : आगामी लोकसभा चुनावों से पहले अयोध्या में भगवान राम की जन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण का मुद्दा सियासी रूप से गरमाने के बीच विश्व हिंदू परिषद् (विहिप) के एक शीर्ष नेता ने सोमवार को कहा कि उनके पास इस मामले में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की नीयत पर संदेह का कोई कारण नहीं है। उन्होंने यह दावा भी किया कि भाजपा देश की इकलौती पार्टी है जो अयोध्या में राम मंदिर बनवाना चाहती है। विहिप के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे ने कहा कि पिछले साढ़े चार साल में राम मंदिर निर्माण की राह प्रशस्त नहीं होने से लोगों के मन में आक्रोश है। इस विलंब से हम भी नाराज हैं। लेकिन हमारे पास इस मामले में केंद्र सरकार की नीयत पर शक करने का कोई कारण नहीं है। कोकजे के मुताबिक, उन्हें पता चला है कि सरकार को कानूनी सलाह मिली है कि अगर वह अयोध्या में राम मंदिर की राह प्रशस्त करने के लिए कोई अध्यादेश या कानून पारित करा भी लेती है, तो संबंधित अध्यादेश या कानून को अदालत में चुनौती दी जा सकती है। नतीजतन इस आशंकित चुनौती से अयोध्या विवाद के निराकरण में और देरी हो सकती है।