बंगाली मूसा गिरोह के 8 सदस्य काबू 


खन्ना, 4 फरवरी (हरजिंदर सिंह लाल): डीआईजी लुधियाना रणबीर सिंह खटड़ा ने दावा किया कि खन्ना पुलिस ने अंतर्राज्यीय स्तर पर वारदातें करने वाले आठ सदस्याें को काबू किया है। यह गिरोह उत्तर प्रदेश, पंजाब और राजस्थाना में सक्रिय है और गिरोह का सरगना लुधियाना के एक कालेज का विद्यार्थी यूनियन का प्रधान है। खटड़ा ने बताया कि मूसा बंगाली गिरोह ने अब तक लगभग ढाई करोड़ की लूटपाट की 91 वारदातों को अंजाम दिया है। खन्ना पुलिस को उस समय कामयाबी हासिल हुई जब एसएसपी ध्रुव दहिया की हिदायतों पर एसपी जसवीर सिंह, डीएसपी जगविंदर सिंह चीमा, थानेदार बेअंत सिंह समराला इंचार्ज चौकी होडों की पुलिस पार्टी द्वारा मुखबिर की सूचना पर मूसा बंगाली गिरोह जो पिछले काफी समय से बड़े स्तर पर डकैतियां, चोरियां, लूटपाट और बैंकों के एटीएम तोड़ने की वारदातों को पंजाब और बाहरी राज्यों में कर रहा है, के सदस्यों को वाहनों और घातक हथियारों सहित सैक्रेड हार्ट कान्वैंट स्कूल गांव उटाला निकट एक सुनसान जगह पर घेरा डाल लिया। हालांकि उस समय बंगाली और मूसा समेत गिरोह के 11 सदस्य मौजूद थे, जिनमें से तीन सदस्य दलजीत सिंह उर्फ लाडू या लाडी उर्फ भुल्लर वासी जमालपुर कालोनी लुधियाना, इरान खान वासी श्री गंगानगर (राजस्थान) एवं वरिंदर सिंह उर्फ बिंदर वासी कलिया वाला ग्राउंड जमालपुर लुधियाना मौके पर अपने हथियार फैंक कर भाग गए। इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा टीमें बना कर जगह-जगह छापे मारे जा रहे हैं। गिरोह के सदस्यों के खिलाफ 399, 402 भ.सं-25-54-59 असला एक्ट के अधीन केस दर्ज कर लिया गया है। क्या-क्या बरामद हुआ  गिरोह के सदस्यों से 4 पिस्तौल 32 बोर, 3 पिस्तौल .315 बोर, 1 पिस्तौल 12 बोर, 1 गन 12 बोर एवं कुछ कारतूस, एक कार एस्टीम, पांच मोटरसाइकिल, बैंकों के एटीएम को काटने वाले औजार, एक्सीजन सिलेंडर, एलपीजी सिलेंडर, गैस कटर और अन्य हथियार बरामद हुए। वर्णनीय है कि इस गिरोह के पास से लूट की रकम में से तीन लाख पचास हजार रुपये भी बरामद किए गए।