अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन का रतिया में संगत द्वारा भव्य स्वागत


रतिया, 12 अक्तूबर (राजेन्द्र मित्तल): गुरु नानकदेव जी के 550वें प्रकाशोत्सव को समर्पित अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन के रतिया पहुंचने पर क्षेत्र की नानक नाम लेवा संगत द्वारा भव्य स्वागत किया गया। इस अवसर पर पांच प्यारों की अगुवाई में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी को सुंदर पालकी में सुशोभित किया गया था। बड़ी संख्या में संगत गुरु ग्रंथ साहिब जी के आगे नतमस्तक हुई तथा पालकी साहिब के साथ ही चल रही गुरु साहिबान जी से संबंधित ऐतिहासिक वस्तुएं एवं शस्त्रों वाली गाड़ी आकर्षण का केंद्र्र रही। शुक्रवार रात्रि को लंगर के उपरांत नगर कीर्तन द्वारा विश्राम रतिया गुरुद्वारा साहिब में किया गया था। जहां संगत द्वारा आज सुबह के दीवान के उपरांत अरदास कर रतिया से फतेहाबाद की तरफ र वाना हुआ। इस मौके फतेहाबाद रोड पर विभिन्न धार्मिक, सामाजिक संस्थाओं, श्री अरोड़वंश महासभा रतिया, गुरद्वारा विश्वकर्मा साहिब, पंजाबी साहित्य सभ्याचार मंच, रतिया हैल्पिंग हैंडस वैल्फेयर ट्रस्ट, गुरुनानक अकादमी, गुरद्वारा अजीतसर साहिब कमेटी सहित क्षेत्रवासियों द्वारा स्वागत करते हुए रूमाला साहिब भेंट किए गए। वहीं सेवादारों को सिरोपों की सेवा के साथ फलों, चाय-पानी के लंगर लगाए गए व गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार सभा के सेवादारों द्वारा झाडू व कली डालने की सेवा निभाई गई।