भारतीय विद्यार्थियों के लिए यू.के. सरकार का नया नियम वरदान साबित होगा : गुरपाल सिंह 


लंदन, 19 अक्तूबर (मनप्रीत सिंह बद्धनी कलां): यू.के. सरकार द्वारा ग्रैजुऐशन के बाद 2 वर्ष के वर्क परमिट की दी सुविधा का भारतीय मूल के विद्यार्थियों को बड़ा लाभ होगा यह विचार यू.के. के इंमीग्रेशन के विशेषज्ञ वकील गुरपाल सिंह उप्पल ने व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि 2020-2021 के लिए सरकार द्वारा यू.के. की यूनिवर्सिटियों में डिग्री कोर्स करने वाले विद्यार्थियों को दो वर्ष का वर्क वीज़ा देने के ऐलान से भारतीयों सहित विदेशी विद्यार्थियों में भारी उत्साह पाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीयों सहित विदेशी विद्यार्थियों में गत वर्ष में आई कमी को देखते सरकार फिर शैक्षणिक क्षेत्र को उत्साहित करने की ओर प्राथमिकता दे रही है। गुरपाल सिंह उप्पल ने यह भी कहा कि पंजाब से आने वाले विद्यार्थी बर्तानियां सरकार की वैबसाईट से सारी जानकारी खुद ले सकते हैं ताकि वह किसी तरह के धोखे से बच सकें।