सरबत दा भला चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित अनूठा प्रयास


अमृतसर, 19 अक्टूबर (राजेश कुमार) : सरबत दा भला चैरिटेबल ट्रस्ट के मुखी व दुबई के जाने-माने व्यवसायी और सामाजिक कार्यकर्ता डा. एसपी सिंह ओबराय के नेतृत्व में गुरु नानक देव जी के साथ 550 वर्षीय प्रकाश पर्व को समर्पित  गुरु ग्रंथ साहिब अध्ययन विभाग, पंजाबी विश्वविद्यालय पटियाला से 21 अक्टूबर को पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला से एक विशेष बस रवाना की जायेगी जिसमें श्रद्धालुओं को दुर्लभ और पुरातन हस्तलिखित स्वरूपों के दर्शन करवाये जाएंगे। यह जानकारी देते हुए डा. ओबेराय तथा डॉ. सर्बजिंदर सिंह प्रोफेसर और प्रमुख, गुरु ग्रंथ साहिब अध्ययन विभाग ने कहा कि इन 16 पुरातन दुर्लभ हस्तलिखित स्वरूपों को ट्रस्ट द्वारा 62 लाख रुपये की लागत तैयार करवाई बस में सुशोभित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा, पंजाब सरकार के प्रमुख सचिव सुरेश कुमार, उपकुलपति डॉ. बीएस घुम्मन 21 अक्तूबर को श्री गुरु ग्रंथ साहिब भवन, पंजाबी विश्वविद्यालय के सामने रवाना करेंगे। इसका पहला पड़ाव पटियाला शहर होगा और इसके बाद निर्धारित मार्ग के अनुसार पहले पटियाला से विभिन्न गांवों, शहरों और कस्बों से होती हुई सुल्तानपुर लोधी पहुंचेगी। इन दुर्लभ और प्राचीन पांडुलिपि रूपों के बारे में जानकारी देते हुए डॉ. सरबजिंदर सिंह ने कहा कि ये स्वरूप सोने, हीरे व एक दुर्लभ स्याही से बनाए गए है, जिनको पंजाबी विश्वविद्यालय के श्री गुरु ग्रंथ साहिब विभाग द्वारा गहन खोज के बाद कुछ नानक नाम के लेवा सिख परिवारों से एकत्रित किया गया है। उन्होंने कहा कि इस बस में लगा डिजिटल डिस्प्ले बोर्ड स्थानीय भाषाओं और अंग्रेजी में अन्य प्रांतों की यात्रा करते समय पंजाबी और अंग्रेजी में इन प्रारूपों के बारे में जानकारी प्रदान करेगा जो विशेष आकर्षण का केन्द्र होगा।