भारत-पाकिस्तान के बीच डेविस कप मुकाबला नूर सुल्तान में 


नई दिल्ली, 19 नवम्बर (भाषा) : भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ डेविस कप मुकाबला नूर सुल्तान में खेलेगी चूंकि अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ ने कजाखस्तान की राजधानी को इस मुकाबले की मेजबानी सौंपकर वेन्यू को लेकर अनिश्चितता खत्म कर दी है। आईटीएफ के स्वतंत्र ट्रिब्यूनल ने 4 नवम्बर को डेविस कप समिति द्वारा लिये गए फैसले पर मुहर लगाई कि यह मुकाबला तटस्थ स्थान पर खेला जाना चाहिये। पाकिस्तान टेनिस महासंघ ने फैसले के खिलाफ अपील की थी। उसने कहा था कि यदि भारतीय तीर्थयात्री बिना किसी सुरक्षा खतरे के पाकिस्तान जा सकते हैं तो भारतीय टीम इस्लामाबाद में मैच क्यो नहीं खेल सकती। एआईटीए के सीईओ अखूरी विश्वदीप ने कहा ,‘‘ आईटीएफ ने हमें बताया है कि मुकाबला नूर सुल्तान में होगा। हमें नहीं पता कि पीटीएफ की अपील खारिज हुई है या नहीं। हमें देर रात को मिली सूचना में नये वेन्यू के बारे में बताया गया।’’ मैच इंडोर कोर्ट पर खेले जायेंगे क्योंकि इस समय वहां कड़ाके की सर्दी होगी।
 भारत के कोच जीशान अली ने कहा ,‘‘ इंडोर खेलना हमारे खिलाड़ियों को रास आता है । यह हमारे पक्ष में होगा । ऐसा नहीं है कि हमारे खिलाड़ी ग्रास पर नहीं खेल सकते लेकिन हार्डकोर्ट उन्हें अधिक भाता है । वहां इस समय काफी सर्दी होगी तो हम इंडोर ही खेलेंगे।’’      मुकाबला 29 . 30 नवंबर को खेला जाना है । पहले इसे सितंबर में होना था लेकिन दोनों देशों के बीच राजनयिक तनाव के मद्देनजर खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताते हुए भारत ने इसे तटस्थ स्थान पर आयोजित कराने की मांग की थी ।       भारत ने अपनी पूरी मजबूत टीम का ऐलान किया था क्योकि पाकिस्तान जाने से इनकार करने वाले सभी शीर्ष खिलाड़ी तटस्थ स्थान पर खेलने को तैयार हैं ।       भारतीय टीम की अगुवाई सुमित नागल और रामकुमार रामनाथन करेंगे जबकि लिएंडर पेस और जीवन नेदुचेझियान युगल खेलेंगे । रोहन बोपन्ना ने कंधे की चोट के कारण नाम वापिस ले लिया है ।      जीशान ने कहा कि बोपन्ना के नाम वापिस लेने से साबित हो गया कि तीन युगल विशेषज्ञों को चुनना समझदारी भरा फैसला था ।       उन्होंने कहा ,‘‘ विशेषज्ञ खिलाड़ियों को रिजर्व के रूप में लेने का फैसला अच्छा था । बोपन्ना की जगह अब जीवन खेलेंगे । हम अभी अंतिम पांच का ऐलान नहीं कर सकते लेकिन जीवन खेलेंगे । हमें रोहन की कमी खलेगी ।’’