हैदराबाद में महिला डॉक्टर से रेप और हत्या मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी सुनवाई 


हैदराबाद, 1 दिसम्बर (इंट.) : हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म और हत्या पर चुप्पी के कारण आलोचना झेल रहे तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने आज चुप्पी तोड़ते हुए इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं। दोषियों को सख्त सज़ा दिलाने के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाने का भी आदेश दिया। उन्होंने कहा कि मामले की जांच जल्द पूरी की जाएगी। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से कहा गया कि मुख्यमंत्री ने मामले की जांच तेज़ी से करने का आदेश दिया है। महिला डाक्टर के दुष्कर्म और हत्या के मामले में केसीआर ने कहा कि पूरे मामले की जांच तेज़ी से की जाए और दोषियों को सख्त से सख्त सज़ा दिलाई जाए। महिला डाक्टर से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में सरकार ने कार्रवाई करते हुए मामले में कोताही बरतने वाले एक एसआई सहित 3 पुलिस कर्मियों को सस्पैंड कर दिया। साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनगर ने यह जानकारी दी। इस मामले में चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।
आरोपी की मां बोली, बेटे को जला दो 
इस मामले में गिरफ्तार किए गए चार आरोपियों में से एक सी. केशवुलू की मां ने कहा कि उनके बेटे को भी जला दिया जाना चाहिए। उसकी मां श्यामला ने कहा, ‘उसे फांसी दे दीजिए या जला दीजिए, जैसा उन लोगों ने महिला डाक्टर के साथ किया, उसका दुष्कर्म करने के बाद।’ उन्होंने कहा कि वह डाक्टर के परिवार का दर्द समझती हैं। आरोपी की मां ने कहा, ‘मेरी भी एक बेटी है और मुझे पता है कि महिला का परिवार दर्द से गुजर रहा है।’ वहीं, तेलंगाना में एक जिला बार संघ ने यहां महिला पशु चिकित्सक के दुष्कर्म और हत्या मामले में चारों आरोपियों की पैरवी न करने का रविवार को फैसला लिया।