" जीएसटी वसूली बढ़ाने के लिए " मोबाइल विंग को आडिट का प्रशिक्षण देने लगी सरकार


जालन्धर, 4 दिसम्बर (शिव शर्मा) : पंजाब में जीएसटी विभाग को अपने पैरों पर खड़ा करने व आगामी समय में जीएसटी वसूली बढ़ाने के लिए जीएसटी के मोबाइल विंग के अधिकारियों को आडिट का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। अब तक तो मोबाइल विंग के अधिकारी तो नाके लगाकर जीएसटी चोरी कर सामान लाने वालों का पीछा कर उन्हें पकड़ने का काम करते थे परंतु जल्द ही वह कारोबारियों की किताबें चैक करते हुए नज़र आएंगे। जीएसटी विभाग ने अभी अपने मोबाइल विंग के अधिकारियों को आडिट करने का प्रशिक्षण देना शुरू किया है। तीन वर्ष पहले पंजाब में वैट खत्म कर जीएसटी लागू किया गया था और जीएसटी लागू होने के बाद राज्य में हर प्रकार के छापे मारने व अधिकारियों को लक्ष्य देने का काम बंद कर दिया गया था। अब तक भी लक्ष्य देने का काम बंद है। मोबाइल विंग को प्रशिक्षण देने के बाद जब जीएसटी की रिटर्नें जमा होंगी तो मोबाइल विंग को उस समय इन जीएसटी केसों के आडिट का काम दिया जाएगा। मोबाइल विंग के अधिकारी पहले नाके लगाकर कारोबारियों की टैक्स चोरी ढूंढते थे और अब वह किताबों में से जीएसटी चोरी के केस ढूंढेंगे। पंजाब का जीएसटी अपने आपको मजबूत बना रहा है क्योंकि वर्ष 2022 तक ही केन्द्र द्वारा पंजाब को जीएसटी से हुए घाटे की भरपाई की जाएगी। केन्द्र द्वारा हर तिमाही 2000 करोड़ रुपए राज्य सरकार को दिया जा रहा है।