" शाहरुख ने मीटू पर कहा " अगर कोई गलत व्यवहार करता है तो अब उसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकेगा


मुंबई, 8 दिसम्बर (भाषा) : बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान का मानना है कि मीटू आंदोलन भले ही पश्चिमी देशों से शुरू हुआ हो लेकिन इसने भारत समेत पूरी दुनिया की महिलाओं को अपने साथ हुए दुर्व्यवहार के खिलाफ आवाज उठाने का अवसर दिया है। शाहरुख (54) ने कहा कि इस आंदोलन ने कार्यस्थलों पर महिलाओं के साथ बुरे बर्ताव पर प्रकाश डाला है। शाहरुख ने एक साक्षात्कार में कहा, ॑यह पश्चिमी देशों से शुरू हुआ और इसने महिलाओं को उस बारे में बोलने का मौका दिया जो हो सकता है कि कुछ साल पहले उनके साथ हुआ हो...इसने उन्हें उनकी आपबीती सुनाने में काफी समर्थन दिया।॑ उन्होंने कहा,मुझे लगता है कि अहम बात यह है कि लोग जान गए हैं कि अगर कोई अनुचित तरीके से व्यवहार करता है तो उसे नजरअंदाज नहीं किया जाएगा।॑