रिसैट-2बीआर1 उपग्रह का सफल प्रक्षेपण 


श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश), 11 दिसम्बर (भाषा): भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने रडार इमेजिंग पृथ्वी निगरानी उपग्रह ‘रिसैट-2बीआर1’ को 9 अन्य विदेशी वाणिज्यिक उपग्रहों के साथ बुधवार को पृथ्वी की कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित कर दिया। इन उपग्रहों को ले जाने वाले 44.4 मीटर लंबे (ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) ने तेज गर्जना करते हुए और धुएं का गुबार छोड़ते हुए यहां स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के प्रथम लांच पैड से अपराह्न तीन बजकर 25 मिनट पर शानदार ढंग से उड़ान भरी। ‘रिसैट-2बीआर1’ को प्रक्षेपण के लगभग 16 मिनट बाद और अन्य उपग्रहों को लगभग पांच मिनट बाद उनकी अलग-अलग निर्दिष्ट कक्षाओं में स्थापित कर दिया गया। इसरो प्रमुख के. सिवन और अन्य वैज्ञानिकों ने सभी 10 उपग्रहों के निर्दिष्ट कक्षाओं में स्थापित होने पर एक-दूसरे को बधाई दी। बाद में, मिशन नियंत्रण केंद्र से सिवन ने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है जो संयोग से पीएसएलवी की 50वीं उड़ान का दिन है। उन्होंने कहा कि इसरो ने ऐतिहासिक मिशन को अंजाम दिया है...मुझे यह घोषणा करते हुए अत्यंत खुशी हो रही है कि 50वें पीएसएलवी ने ‘रिसैट-2बीआर1’ को 576 किलोमीटर की कक्षा में सफलतापूर्वक बेहद सटीक तरीके से स्थापित कर दिया है। इनमें से अमेरिका के 6 उपग्रह और इजराइल, इटली तथा जापान का एक-एक उपग्रह शामिल है। उपग्रहों का प्रक्षेपण न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड के साथ वाणिज्यिक प्रबंधन के तहत किया जा रहा है। कुल 50 मिशनों में से 48 मिशन इसरो के लिए सफल रहे हैं। पीएसएलवी ने अब तक लगभग 310 विदेशी उपग्रहों को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किया है।