पाकिस्तान के पास जम्मू कश्मीर पर भारत के फैसले पर प्रतिक्रिया देने के ‘विकल्प सीमित’: रिपोर्ट


वाशिंगटन, 22 जनवरी (भाषा) : अमरीका की एक कांग्रेशनल रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तानी नेतृत्व के पास जम्मू-कश्मीर पर भारत के फैसले पर प्रतिक्रिया देने के ‘विकल्प सीमित’ हैं। कई विश्लेषकों का मानना है कि इस्लामाबाद का आतंकवादी संगठनों को गुपचुप समर्थन देने के लंबे इतिहास को देखते हुए उसकी इस मुद्दे पर ‘विश्वसनीयता कम’ है। कांग्रेशनल रिसर्च सर्विस (सीआरएस) ने छह महीनों से कम समय में कश्मीर पर अपनी दूसरी रिपोर्ट में यह भी कहा कि हाल के वर्षों में सैन्य कार्रवाई के जरिए यथास्थिति बदलने की पाकिस्तान की क्षमता भी कम हुई है जिसका मतलब है कि वह मुख्यत: कूटनीति पर निर्भर रह सकता है। सीआरएस अमरीकी कांग्रेस की स्वतंत्र शोध शाखा है जो अमरीकी सांसदों की रूचि के मुद्दों पर नियतकालिक रिपोर्टें तैयार करती है। सीआरएस ने 13 जनवरी की अपनी रिपोर्ट में कहा कि पांच अगस्त के बाद पाकिस्तान कूटनीतिक तौर पर अलग-थलग दिखाई दिया। केवल तुर्की ने इसका समर्थन किया।