ब्यास नदी में गंदा पानी डालने पर हिमाचल की फैक्टरियों को 10 लाख जुर्माना


जालन्धर, 22 जनवरी (शिव) : संसारपुर टैरिफ की 2 फैक्टरियों द्वारा सवां दरिया से ब्यास दरिया को पानी डालने के मामले में एन.जी.टी. निगरानी टीम ने 10 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है और इसके अतिरिक्त पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड भी हिमाचल प्रदेश कंट्रोल बोर्ड को इन फैक्टरियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए लिखने जा रहा है। नवम्बर के महीने में चेयरमैन जस्टिस जसबीर सिंह के नेतृत्व में एन.जी.टी. की निगरानी टीम ने तलवाड़ा से होते हुए जब हिमाचल की सीमा स्वां से गंदा पानी ब्यास में डालने का मामला पकड़ा था तो उस समय डाले जा रहे पानी के नमूने भरे गए थे। हिमाचल के संसारपुर टैरिफ में लगी कुछ फैक्टरियों का गंदा पानी गुप्त रूप से डाले गए प्लास्टिक के पाइपों द्वारा पानी पहले सवां दरिया में डालते थे और यही पानी ब्यास दरिया में जाता था। एन.जी.टी. द्वारा की गई कार्रवाई की रिपोर्ट पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड कार्यालय को मिल गई है। बोर्ड के सीनियर अधिकारी इंजीनियर हरबीर सिंह ने बताया कि एन.जी.टी. की रिपोर्ट उनको आज ही मिली है और इस रिपोर्ट में जहां फैक्टरियों को 10 लाख रुपए पर्यावरण संबंधी जुर्माना करवाने के निर्देश दिए गए हैं। इंजीनियर हरबीर सिंह ने बताया कि पंजाब द्वारा हिमाचल प्रदेश के प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड को इसके बारे लिखा जा रहा है।