करतारपुर गलियारा ज़मीन अधिग्रहण मामला


अमृतसर, 16 सितम्बर (सुरिन्द्र कोछड़) : पाकिस्तान सरकार की फ्रंटियर आर्ग्रेनाइजेशन (एफ. डब्ल्यू. ओ.) द्वारा श्री करतारपुर साहिब गलियारे के लिए अपने अधिकार के लिए साथ लगते गांवों की 1771 एकड़ भूमि का मामला लगातार जोर पकड़ता जा रहा है। इसको लेकर ज़िला नारोवाल की तहसील शंकरगढ़ के गांव वासियों ने एफ.डब्ल्यू.ओ. के विरुद्ध गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब गलियारे को जाती मुख्य सड़क पर जाम लगा कर रोष प्रदर्शन करते उनकी ज़मीन का जल्दी मुआवज़ा देने की मांग की। किसानों और आम गांव वासियों को उनका बनता हक दिलवाने के लिए सामने आए मनुष्य अधिकार कमिशन पाकिस्तान का कहना है कि श्री करतारपुर कोरीडोर के लिए ज़मीन एक्वायर करने के साथ नारोवाल ज़िले के कम से कम 6 गांव प्रभावित हुए हैं और उनमें दो गांवों को पूरी तरह से समाप्त कर दिया गया है। कमिशन अनुसार पाक सरकार की उक्त कार्रवाई के चलते डोडे गांव के 1,500 और 2,000 परिवारों के घर से ज़मीनें खत्म करके उनको शरणार्थी बनने के लिए मजबूर कर दिया है। एफ.डब्ल्यू.ओ. द्वारा एक्वायर की ज़मीन के लिए सरकार द्वारा किसानों को प्रति एकड़ 5000 डालर देने की पेशकश की गई थी जबकि उनके द्वारा प्रति एकड़ 30 हज़ार डालर की मांग की जा रही है।