कनाडा में मतदान आज


टोरांटो, 20 अक्तूबर (सतपाल सिंह जौहल): कनाडा की 43वीं संसद के गठन के लिए होने वाले चुनावों की गत दिनों से चलती आ रही चर्चा व उत्सुकता भरपूर इंतज़ार के बाद आखिर मतदान का दिन आ गया है। 21 अक्तूबर को देशभर में 12 घंटे पोलिंग बूथ खुले रहेंगे जिस दौरान 338 क्षेत्रों के मतदाता 2146 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। मतदान के बाद उसी रात नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे। संतोषजनक बात यह है कि कनाडा में चुनावों की समूची प्रक्रिया दौरान कहीं भी पुलिस या अर्द्धसैनिक बल वगैरह तैनात करने की ज़रूरत नहीं पड़ती। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन उम्मीदवारों ने घर-घर अपनी जानकारी पहुंचाने के लिए छपी सामग्री भेजी परंतु लोगों को टैलीफोन करने से परहेज़ किया। पता चला है कि इस बार प्रचार दौरान सोशल मीडिया का बहुत बोलबाला रहा है और लोगों को घर में जाकर मिलने का रुझान कम हुआ इस कारण अधिकतर लोग शिकायत करते हैं कि राजनीतिक दलों व उम्मीदवारों से निराश लोगों में नन्न आफ अबव (नोआ) चुनने की मांग उठी है। इसका भाव है कि यदि किसी क्षेत्र में उतरे उम्मीदवारों में से वोटर को कोई पसंद तो वह ‘नोआ’ का चयन कर अपनी निराशा जाहिर कर सके। भारत में मतदाताओं को इलैक्ट्रानिक्स वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर ‘नोटा’ बटन मिला हुआ है परंतु कनाडा में ऐसा कुछ नहीं है। यह भी कि सभी वोटें बैलेट पेपर के ज़रिये पोल की जाएंगी और मशीनों की कोई भूमिका नहीं है। बैलेट पेपर में क्षेत्र के उम्मीदवारों व उनकी पार्टियों के नाम दर्ज हैं परंतु नोआ या नोटा का कालम नहीं है। डैमोक्रेसी वाच नामक संस्था के प्रवक्ता ने भविष्य में होने वाले चुनावों में ‘नोआ’ की मांग की है ताकि पोलिंग स्टेशन में जाकर वोट खराब कर आएं या वोट डालने ही न जाने वाले वोटर भी अपने मन का रोष व्यक्त कर सकें ।