गन्ने की पिराई शुरू होने से गुड़-चीनी और टूटे


नई दिल्ली, 20 अक्तूबर (एजेंसी): गत सप्ताह क्रेशरों के साथ-साथ कुछ मिलों में भी गन्ने की पिराई शुरू हो गयी, जिसके चलते चीनी में 60/70 रुपए एवं गुड़ में 30/40 रुपए उत्पादक मंडियों में और मंदा आ गया। यहां भी बाजार उसी अनुपात में दबे रहे। आलोच्य सप्ताह मोदी सहित कुछ अन्य मिलों में गन्ने की पिराई शुरू हो गयी। दिवाली की चालानी मांग हलवाइयों की समाप्त हो जाने से मिलो में डीओ 60/70 रुपए प्रति क्विंटल घटाकर बनाये गये। जो डीओ गत सप्ताह आज ही के दिन 3360/3380 रुपए मिलों में बिक थे, उसके भाव 3300/3320 रुपए रह गये। नीचे में 3260 रुपए भी महाराष्ट्र में चीनी बिकने की खबर थी। गौरतलब है कि नवरात्रि के बाद चीनी में मिलों से बिक्री पूरी तरह ठप्प पड़ गयी थी, क्योंकि वितरक मंडियों की चीनी नहीं बिक पायी थी। उसके बाद जैसे-जैसे दिवाली का समय नजदीक आता गया, बाजार टूटकर पानी-पानी हो गये हैं। पुरानी चीनी मिलों व वितरक मंडियों में प्रचुर मात्रा में बची हुई है तथा विदेशों में चीनी सस्ती होने से निर्यात का समर्थन नहीं मिल रहा है, जिससे आगे बाजार और मंदा लग रहा है। इधर नया गुड़ भी मुजफ्फरनगर, मुरादनगर, शामली, बागपत, बड़ौत आदि मंडियों में प्रेशर में आने से 30/40 रुपए वहां घट गया। मुजफ्फरनगर मंडी में गुड़ की आवक 8000 कट्टे के करीब हो जाने से वहां भी 30 रुपए घटकर लड्डू 1150/1200 रुपए, खुरपा 1020/1040 रुपए प्रति 40 किलो रह गया, जिससे यहां भी बाजार अंदरूनी दबा रहा।