कैसे बुझाई जाती है पेट्रोल की आग


पेट्रोल एक अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थ है, बस एक चिंगारी लगते ही पेट्रोल में आग भभक उठती है, पल भर में इसकी आग की लपटें ऊंची होकर तांडव दिखाने लगती हैं। यदि पेट्रोल की आग को हम पानी से बुझाने का प्रयास करते हैं तो यह बुझने की बजाय और अधिक भभकने लगती है। पेट्रोल की आग पानी से क्यों नहीं बुझती? आखिर इसे कैसे बुझाया जाता है, आओ, यही कुछ जानते हैं— पेट्रोल से लगी आग पर पानी से काबू नहीं पाया जाता, क्योंकि यह अत्यधिक ज्वलनशील होने के कारण पानी को भी वाष्प में बदलकर आयनीकृत कर देता है, जिससे ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ जाती है और इस तरह से आग और तेज़ भड़क उठती है। पेट्रोल से लगी आग पर काबू पाने के लिए उस पर कार्बन डाईऑक्साइड गैस का छिड़काव किया जाता है। यह अदाह गैस है तथा एक तरह से आवरण का काम करती है, आग पर इसका छिड़काव करने से यह आग के चारों ओर एक आवरण-सा बना देती है। इससे आग को ऑक्सीजन मिलना बंद हो जाता है और वह आग बुझ जाती है। पेट्रोल से लगी आग पर काबू पाने के लिए उस पर कार्बन डाईऑक्साइड गैस का छिड़काव कर उसे बुझाया जाता है।