पंजाब में मौसम के परिवर्तन का बिजली की खपत पर पड़ा प्रभाव


पटियाला, 20 अप्रैल (जसपाल सिंह ढिल्लों) : कई दशकों बाद अप्रैल के तीसरे सप्ताह के पश्चात भी मौसम में वह गर्माहट नहीं आई जो अक्सर इन दिनों में आ जाती थी। मौसम के परिवर्तन कारण ही इस समय तापमान अंदाजन 35 से 37 डिग्री सैल्सियस के करीब ही चल रहा है। कुछ दिन पहले यह तापमान का आंकड़ा 33 डिग्री सैल्सियस का करीब था। इसका सीधा प्रभाव बिजली की खबर के आंकड़े पर पड़ा है। मौसम के कारण बिजली की खपत का आंकड़ा 4000 मैगावाट के करीब आ गया था, जो अब लगभग 4900 मैगावाट के लगभग है, जबकि इन दिनों में अक्सर बिजली की खपत का आंकड़ा 6000 मैगावाट जा पहुंचता था, परन्तु अब यह आंकड़ा काफी नीचे है। बिजली निगम के सूत्रों अनुसार बिजली की खपत का यह आंकड़ा कई दशकों के पश्चात निचले स्तर पर बताया जा रहा है। इसका सबसे ज्यादा असर बिजली निगम के सरकारी ताप बिजली घरों पर पड़ा है। इस समय गुरु नानक देव ताप बिजली घर को बिजली निगम ने पहले ही बंद किया हुआ है। गौरतलब है कि विगत सरकार के समय इस ताप बिजली घर को सम्मान किया गया था जिस पर करीब 700 करोड़ से ज्यादा खर्चा गया परन्तु वह किसी कार्य न आया। बिजली मंत्री कई बार घोषणा कर चुके हैं कि इस ताप बिजली घर को पराली पर चलाने सम्बन्धी योजना बनाई जा रही है।