गुज्जरों के डेरे को लगी भीषण आग, जिंदा झुलसी तीन वर्षीय बच्ची

माछीवाड़ा साहिब, 08 मई - (सुखवंत सिंह गिल) - गांव पवात के खेतों में आज गुज्जरों के डेरे को आग लगने से तीन वर्षीय बच्ची की मौत हो गई, जबकि उसका दादा बुरी तरह से झुलस गया। मौके से मिली जानकारी के अनुसार, अशरफ अली, आयूब खान और सबीर अली नामक तीन भाई खेतों में बनी झुग्गियों में पिछले कई समय से रह रहे थे और दूध का कारोबार करते थे। आज सुबह डेरों के एक तरफ लगी आग देखते ही देखते इस तरह फैल गई कि इसने तीन भाइयों के रैन बसेरे को अपनी चपेट में ले लिया और उनको अपनी जान  बचाने का भी मौका न मिल सका। इस हादसे में आयूब खान की तीन वर्षीय मासूम लड़की प्रमीना, जोकि डेरे  के अंदर सो रही थी, जिंदा जल गई और उसका दादा नवाबदीन बुरी तरह झुलस गया। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। आयूब खान ने बताया कि आग के कारण बड़े स्तर पर उनका माली नुक्सान भी हुआ है। घटना के बाद मौके पर पहुंचे एसएचओ रमनइन्दरजीत सिंह ने मृतक लड़की प्रमीना के  शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस घटना के बाद पवात निवासियों ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि दूध बेच कर गुजारा करते इस गुज्जर परिवार का बड़ा नुक्सान हुआ है और इसलिए सरकार इनकी अधिक से अधिक मदद करे।