धूरी में 4 वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म का मामला- कैप्टन के आदेश के बाद जांच में आई तेज़ी



धूरी, 28 मई (संजय लहरी): बीते शनीवार को सर्वहितकारी विद्या मन्दिर स्कूल की स्थानीय शिशु वाटिका ब्रांच में एक 4 वर्ष की बच्ची से हुई दुष्कर्म की बुरी घटना को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह द्वारा एस.एस.पी. संगरूर को दिए गए निर्देशों के बाद पुलिस ने इस मामले की जांच ओर तेज़ कर दी है। इस संबंधी आज ज़िला पुलिस प्रमुख संगरूर डा. संदीप गर्ग  ने घटना की जांच के लिए बनाई स्पैशल जांच टीम के साथ घटना स्थान का बारीकी से निरीक्षण करने उपरांत पत्रकारों से बातचीत दौरान बताया कि इस मामले की तेजी से और निष्पक्ष जांच करने के लिए एस.पी. गुरमीत सिंह की अगुवाई तहत  विशेष जांच टीम का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि घटना में शामिल मुख्य आरोपी के अलावा पीड़ित बच्ची के माता-पिता के ब्यानों के आधार पर स्कूल प्रबंधक कमेटी के 3 पदाधिकारियों को नामजद करते गिरफ्तार किया जा चुका है। जब उनको पूछा गया कि इस केस संबंधी पुलिस पर कोई राजनीतिक दबाव भी है तो उनको स्पष्ट करते कहा कि इस मंदभागी घटना संबंधी न तो पुलिस पर कोई सियासी दबाव है और न ही दबाव बर्दाश्त किया जाएगा। जब उनको पूछा गया कि इस मामले में प्रबंधक कमेटी का कोई ओर पदाधिकारी भी पुलिस केस में जरूरी है तो उन्होंने स्पष्ट इंकार करते कहा कि इस केस में जरूरी चारों व्यक्ति गिरफ्तार किए जा चुके है। इस मौके उन्होंने एस.पी. इनवैस्टीगेशन गुरमीत सिंह, डी.एस.पी. धूरी मोहित अग्रवाल,  एस.एच.ओ. सदर हरविन्द्र खैहरा, एस.एच.ओ. सिटी हैरी बोपाराय, नरिन्द्र भल्ला रीडर आदि भी उपस्थित थे।
परमिन्द्र सिंह ढींडसा द्वारा घटना की कड़ी निंदा : पंजाब के पूर्व वित मंत्री श्री परमिन्द्र सिंह ढींडसा ने इस घटना की निन्दा करते पीड़ित परिवार से हमदर्दी प्रकट की और इस घटना को समाज के माथे पर कलंक बताते हुए कहा कि ऐसे आरोपियों को सख्त सजा मिलनी चाहिए। इस मौके उन्होंने ओ.एस.डी. अमनदीप सिंह चैरी ने भी धूरी में पहुंच कर परिवार से हमदर्दी प्रगट की।