अनंतनाग आतंकी हमले के दौरान हिमाचल का लाल शहीद 


ऊना,18 जून - (हरपाल सिंह कोटला) - जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमले के दौरान चोटिल हुए हिमाचल के 25 वर्षीय अनिल कुमार पुत्र अशोक कुमार बीती रात देश के लिए कुर्बान हो गया। 13 जैक राइफल्स में तैनात शहीद अनिल कुमार दो साल पहले ही परिणय सूत्र में बंधे थे। महज पांच महीने का बेटा भी अपने पीछे छोड़ गए हैं। बताया जा रहा है कि 10 दिन पहले ही शहीद अनिल घर आए थे और 7 जून को डयूटी पर लौटे। ऊना के बंगाणा के सरोह से संबंध रखने वाले अनिल की शहादत की खबर सुनकर समूचा गांव गमगीन तो है ही, मगर उनका सीना फक्र से चौड़ा हुआ है। फिलहाल स्थिति स्पष्ट नहीं हुई है कि शहीद का पार्थिव शरीर कब घर पहुंचेगा। इसी बीच बंगाणा के एसडीएम संजीव शर्मा ने पुष्टि करते हुए कहा कि शहीद का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ होगा। उल्लेखनीय है कि सोमवार को अनंतनाग में आतंकी हमले में एक मेजर ने भी शहादत को चूम लिया था। इसी दौरान अनिल सहित 5 जवान चोटिल हुए थे। वहीं उपचार के दौरान अनिल ने देश पर प्राण न्यौछावर कर दिए। गौरतलब है कि शहीद अनिल की मदर रेजीमेंट 13 जैक राइफल्स है। वह इस समय राष्ट्रीय राइफल्स-3 में सेवाएं दे रहे थे।