सऊदी अरब द्वारा भारतीय बासमती चावल निर्यातकों को चार महीनों की राहत


मूणक, 6 सितम्बर (अ.स.) : सऊदी अरब भारतीय बासमती चावल का प्रमुख खरीदार है। भारत सरकार द्वारा कुल निर्यात किए बासमती चावलों में तकरीबन 20 फीसदी हिस्सा साऊदी अरब देश खरीदता था। पिछले महीने साऊदी अरब ने भारत से आने वाले बासमती चावलों में कीटनाशक दवाइयों की मात्रा घटा दी थी, जिससे बंदरगाह और निर्यातकों द्वारा भेजे हुए चावल रुक गए हैं। उधर दूसरी ओर आने वाली नई बासमती फसल के भाव को लेकर किसानों में भी घबराहट पाई जा रही है पर पिछले दिन चावल के निर्यातकों और सऊदी अरब के अधिकारियों की साथ हुई मीटिंग में चावल निर्यातकों को पिछले मापदंड अनुसार ही 31 दिसम्बर तक राहत दे दी है। आल इंडिया राइस एक्सपोर्ट एसोसिएशन के प्रधान विजय सेतिया ने टेलीफोन पर हुई बातचीत में बताया कि सऊदी अरब द्वारा बनाए गए नये नियम पहले एक सितम्बर से लागू हुए हैं। अब सऊदी अरब के अधिकारियों के साथ हुई मीटिंग में नये नियमों को लागू करने के लिए 31 दिसम्बर तक राहत दे दी है।