अरुण जेटली मेरे घनिष्ठ मित्र थे, उनके अंतिम दर्शन मैं नहीं कर पाया। इसका बोझ मुझपर हमेशा बना रहेगाः पीएम मोदी


अरुण जेटली मेरे घनिष्ठ मित्र थे, उनके अंतिम दर्शन मैं नहीं कर पाया। इसका बोझ मुझपर हमेशा बना रहेगाः पीएम मोदी