कोटकपूरा गोलीकांड मामले की सुनवाई 15 को 


फरीदकोट, 1 नवंबर (अ.स.) : कोटकपूरा में 14 अक्तूबर 2015 को हुए गोलीकांड संबंधी 7 अगस्त 2018 को थाना सिटी कोटकपूरा में दर्ज हुए मामले सबंधी स्थानीय सैशन जज हरपाल सिंह की अदालत में चल रही सुनवाई दौरान जांच अधिकारियों की जांच दौरान फोन कालों को अदालत में पेश करने व सुरक्षित रखने सबंधी आरोपियों द्वारा दाखिल की गई याचिका पर तीव्र बहस हुई। आज अदालत में सुनवाई के दौरान आई.जी. परमराज सिंह उमरानंगल, पूर्व एस.एस.पी. चरणजीत शर्मा, पूर्व संसदीय सचिव मनतार सिंह बराड़, एस.पी. बलजीत सिंह व इंस्पेक्टर गुरदीप सिंह पंधेर उपस्थित थे। बता दें इस मामले में आरोपी के तौर पर नामज़द उच्च पुलिस अधिकारियों ने अदालत में याचिका दायर करके जांच टीम के सभी सदस्यों के मोबाइल फेन की काल रिकार्ड को अदालत में पेश करने व सुरक्षित रखने की मांग की थी। पंजाब सरकार की ओर से पेश हुए सरकारी वकील जिला अटारनी रज़नीश गोयल द्वारा आज आरोपी पुलिस अधिकारियों की इस मांग का जोरदार विरोध किया गया। उन्होंने अपने जवाब में कहा कि जांच टीम के सदस्यों का फोन रिकार्ड की जानकारी जनतक नहीं की जा सकती क्यों कि इससे जांच टीम के खास गुप्तचरों व गुप्त श्रोतों की पहचान हो सकती है। आरोपी पुलिस अधिकारियों ने कहा कि सारी जांच सियासत से प्रभावित है और जांच टीम ने पूरे मामले का सत्य सामने लाने की बजाए कुछेक पुलिस अधिकारियों को कथित तौर पर रंजिश के तहत फंसाया है। उन्होंने बहस दौरान अदालत में जांच अधिकारी आई.जी. कुंवर विजय प्रताप सिंह पर आरोप लगाया कि उनके द्वारा नियमानुसार निष्पक्ष जांच नही की जा रही। जिस कारण जांच टीम के अधिकारियों में टकराव भी पैदा हुआ। इस मामले में आज आज काफी लंबी बहस सुनने के बाद अदालत द्वारा अग्रिम सुनवाई 15 नवंबर तक स्थिगित कर दी गई।