करतारपुर साहिब में लगाए टैंटों के बाहर से हटाया बारिश का पानी, श्रद्धालुओं को मिली राहत


अमृतसर, 8 नवम्बर (सुरिन्द्र कोछड़) : बीते दिन रुक-रुक कर हुई जोरदार बारिश, तेज हवाएं व ओलावृष्टि के कारण गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब में गुरुद्वारा साहिब से थोड़ी दूर लगाए गए टैंटों के बाहर काफी पानी इकट्ठा हो गया था। जिस कारण श्रद्धालुओं को टैंटों तक पहुंचने में परेशानी  हुई, परंतु वॉटर प्रूफ टैंटों की बदौलत श्रद्धालुओं के लिए अंदर रखे वस्त्रों को किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं पहुंचा। प्राप्त जानकारी अनुसार आज तेज धूप के चलते जहां प्रबंधकों व श्रद्धालुओं  ने भारी राहत महसूस की, वहीं दिन निकलने से पहले गुरुद्वारा साहिब व श्रद्धालुओं की अस्थाई रिहायश के पास खड़े पानी को आधुनिक मशीनों द्वारा हटा दिया गया।
शिरोमणि कमेटी ने की चोला साहिब की सेवा
गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब में पहुंचे भारतीय सिख श्रद्धालुओं के जत्थे द्वारा गुरुद्वारा साहिब के 150 फुट ऊंचे निशान साहिब व चोला साहिब चढ़ाया गया। यह सेवा शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा की गई। अरदास के बाद जयकारों की गूंज में यह सेवा शुरू की गई। इस मौके देश-विदेश से पहुंचे सिख श्रद्धालु उपस्थित थे।
नहीं लगा कोई इतराजयोग आपत्तिजनक
पाकिस्तान सरकार द्वारा दिखाई गई सख्ती के चलते गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब, श्री ननकाना साहिब, लाहौर व अन्य शहरों या गुरुद्वारा साहिब के अंदर-बाहर किसी भी प्रकार के आपत्तिजनक इश्तिहार, फ्लैक्स व होर्डिंग लगाने की अनुमति नहीं दी गई। इवैकूई ट्रस्ट प्रापर्टी बोर्ड के एक अधिकारी ने भारतीय मीडिया द्वारा प्रकाश पर्व समारोह में खालिस्तान, 2020 या भारत विरोधी प्रचार किए जाने वाली खबरों का खंडन करते कहा कि देश-विदेश के किसी भी संगइन या व्यक्ति को किसी दूसरे देश के प्रति नफरत फैलाने की मंजूरी नहीं दी गई है। इस सब के चलते 2020 रिफरैडम लिखित टी-शर्ट व और सामान के बांटने  पर भी सख्ती से पाबंदी लगाई गई है।