बेरोज़गार बी.एड अध्यापकों की शिक्षा मंत्री के साथ बैठक रही बेनतीजा


संगरूर, 19 नवम्बर (सत्यम्): पिछले तीन माह से अपनी मांगों को लेकर संघर्ष कर रहे बेरोज़गार टैट पास बी.एड. अध्यापकों की आज चंडीगढ़ में शिक्षा मंत्री विजयइन्द्र सिंगला तथा शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार से हुई पैनल बैठक में कोई परिणाम नहीं निकला। जिसके बाद बेरोज़गार टैट पास बी.एड. अध्यापक यूनियन ने संघर्ष को और तेज़ करते हुए 24 नवम्बर को शिक्षा मंत्री की कोठी के घेराव किया तथा साथ 30 नवम्बर को जिला संगरूर आ रहे शिक्षा सचिव के घेराव का ऐलान किया है। यूनियन के प्रांतीय अध्यक्ष सुखविन्द्र सिंह ढिलवां तथा प्रांतीय प्रैस सचिव रणदीप सिंह संगतपुरा ने कहा कि आज की बैठक में उनकी मुख्य मांग थी कि बी.एड अध्यापकों की भर्ती के लिए लगाई नई शर्त खत्म की जाए जिसमें बी.ए. में 55 प्रतिशत अंक हों, जरूरी किया गया है। दूसरा यूनियन की मांग थी कि अपंग कोटे के बी.एड अध्यापकों की भर्ती के लिए निर्धारित तारीख 20 नवम्बर में वृद्धि की जाई। बैठक में शिक्षा मंत्री तथा शिक्षा सचिव ने दोनों मांगों को मानने से इंकार कर दिया है जिसके बाद अब संघर्ष को और तेज़ करने से सिवाये और कोई रास्ता नहीं बचा। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में संघर्ष में वामपंथी संगठनों को शामिल किया जाएगा। उन्होंने और बताया कि जब उन्होंने बी.एड की थी तो इसके लिए बी.ए. में 55 प्रतिशत अंक होने की शर्त लगा रहा है। उन्होंने यह भी मांग है कि आयु सीमा में वृद्धि करने के साथ साथ पुरानी शर्तों को बरकरार रखते कम से कम 15 हजार पदों की भर्ती का ज्ञापन जारी कर बी.एड अध्यापकों की भर्ती शुरू की जाए। बैठक में अन्य के अलावा यूनियन के प्रांतीय उपाध्यक्ष निक्का सिंह, प्रांतीय कमेटी सदस्य युद्धजीत सिंह बठिंडा, अमन सेखां, बलकार सिंह मानसा तथा नवजीवन सिंह उपस्थित थे।