बहुत गुणकारी है अदरक


अदरक वाली चाय का न सिर्फ  स्वाद बेहतरीन होता है बल्कि यह कई बीमारियों से भी बचाती है। विटमिन सी, मैग्नीशियम और अन्य मिनरल्स से भरपूर अदरक वाली चाय में शहद मिलाने से इसके हेल्थ से जुड़े फायदे कई गुना बढ़ जाते हैं।
जुकाम से बचाती है
सर्दियों में ट्रैवल करने से पहले एक कप अदरक वाली चाय आपके सफर को आरामदायक बना देगी। इससे न केवल जुकाम होने की आशंका दूर होती, बल्कि शुरुआत में लक्षण दिखते ही इसके प्रयोग से काफी फायदा होता है।
पाचन क्रिया दुरुस्त करती है
सर्दियों में अदरक वाली चाय खाने को पचाने में काफी सहायक होती है। अगर खाने के बाद एक कप चाय हो जाए, तो पेट से संबंधित समस्याएं नहीं होतीं।
ऐलर्जी से बचाए
सर्दियों के दिनों में हवा की गुणवत्ता खराब हो जाती है। ऐसे में लोगों को सर्दी में सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। इस दौरान अदरक वाली कड़क चाय आपको राहत दे सकती है।
 ब्लड सर्कुलेशन रहेगा ठीक
सर्दियों में ब्लड सर्कुलेशन की समस्याएं काफी बढ़ जाती हैं। ऐसे में अदरक में मौजूद विटमिन, मिनरल्स और अमीनो ऐसिड सर्दियों में रक्त संचार को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। खासतौर पर बुजुर्गों को इसका सेवन करना चाहिए।
तनाव दूर करती है
मौसम कोई भी हो, तनाव की समस्या लोगों में अक्सर देखी जा सकती है। ऐसे में अदरक वाली चाय तनाव को कम कर राहत प्रदान कर सकती है।
इम्यूनिटी बढ़ाती है
बच्चों और बुजुर्गों की इम्यूनिटी कमजोर होने के कारण सर्दियों में वे अक्सर बीमार हो जाते हैं। ऐसे में बच्चों को शहद के साथ अदरक देना चाहिए और बुजुर्गों को इसकी चाय पिलानी चाहिए, ताकि इम्यूनिटी बढ़ सके।
श्वास संबंधी बीमारी 
अदरक का रोज सेवन करने से श्वास संबंधी रोगों में कमी लाई जा सकती है, वहीं अदरक में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स इसे एलर्जी और संक्रमण से भी बचाते हैं।
माइग्रेन 
अदरक आपकी माइग्रेन की समस्या को भी दूर कर सकता है। माइग्रेन का अटैक आए तो अदरक की चाय पीएं। ऐसा करने से दर्द और उल्टी से काफी हद तक राहत मिलेगी।
अदरक मधुमेह में लाभदायक तत्व 
मधुमेह के मामले में अध्ययनों ने अदरक को इसके बचाव और उपचार दोनों में असरकारी माना है। अदरक को टाइप 2 मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए असरदार पाया गया। अदरक के तत्व इंसुलिन के प्रयोग के बिना ग्लूकोज को स्नायु कोशिकाओं तक पहुंचाने की प्रक्रिया बढ़ा सकते हैं। इस तरह इससे उच्च रक्त शर्करा स्तर (हाई शुगर लेवल) को काबू में करने में मदद मिल सकती है।