गन्ने की 32 करोड़ की अदायगी संबंधी भाकियू दोआबा व मिल मालिकों में समझौता


कपूरथला, 22 नवम्बर (अमरजीत कोमल): भारतीय किसान यूनियन (दोआबा) की ओर से जिला प्रशासन की मौजूदगी में चीनी मिल फगवाड़ा के प्रबंधकों से हुए लिखित समझौते में मिल मालिकों की ओर से 30 नवम्बर तक 10 करोड़, 22 दिसम्बर तक 10 करोड़ और 15 जनवरी तक 12 करोड़ रुपये की अदायगी किए जाने के आश्वासन उपरांत यूनियन ने फिल्हाल संघर्ष स्थगित कर दिया है। इस संबंधी जानकारी देते हुए यूनियन के महासचिव सतनाम सिंह साहनी ने बताया कि यदि 30 नवम्बर तक मिल मालिकों ने गन्ना उत्पादकों को 10 करोड़ रुपये की अदायगी न की तो भारतीय किसान यूनियन चीनी मिल नहीं चलने देगी। उन्होंने मांग की है कि किसानों को पड़ोसी राज्य हरियाणा और उत्तर प्रदेश की चीनी मिलों के समान गन्ने का रेट दिया जाए और किसानों को 14 दिन के अंदर-अंदर खरीदे गए गन्ने की अदायगी सुनिश्चित की जाए। वर्णनीय है कि चीनी मिल फगवाड़ा की ओर से 2017-19 दौरान जालंधर, कपूरथला, होशियारपुर व नवांशहर के गन्ना उत्पादकों की 32 करोड़ रुपये की गन्ने की अदायगी न किए जाने का मामला पिछले साल से लटकता आ रहा है। जिसे लेकर भारतीय किसान यूनियन संघर्षशील रही है और आज 32 करोड़ की अदायगी को लेकर जिला प्रबंधकीय कांप्लैक्स में यूनियन नेताओं की जिलाधीश इंजी: डी.पी.एस. खरबंदा, एस.एस.पी. कपूरथला सतिंदर सिंह, ए.डी.सी. राहुल चाबा, ए.डी.सी. फगवाड़ा गुरमीत सिंह मुलतानी, एस.डी.एम. फगवाड़ा लतीफ मोहम्मद और गन्ना विभाग की ओर से ए.एस.डी.ओ. हरपिंदर सिंह नवांशहर की मौजूदगी में मिल मालिक जरनैल सिंह वाहद और सुखबीर सिंह संधड़ से लगभग 5 घंटे बैठक हुई है। जिसमें गन्ने की अदायगी संबंधी लिखित समझौता हुआ। बैठक में मिल मालिकों ने किसानों की गन्ने की बनती अदायगी लिखित समझौते अनुसार निश्चित समय में करने का आश्वासन दिलाया। इस अवसर पर भारतीय किसान यूनियन दोआबा के अध्यक्ष मनजीत सिंह राय, जमहूरी किसान सभा के प्रदेश महासचिव कुलवंत सिंह संधू, कृपाल सिंह मूसापुर, कुलदीप सिंह रायपुर, गुरभेज सिंह भोगपुर, मेजर सिंह नवांशहर, दविंदर सिंह नवांशहर, बलदीप सिंह हरदासपुर, मेजर सिंह अठौली, बलबीर सिंह अहिराणा कलां  के अतिरिक्त 40 से अधिक किसान विशेष तौर पर उपस्थित थे।