जीरा में बिक्री की कमी : लम्बी तेज़ी की आस नहीं


नई दिल्ली, 7 दिसम्बर (एजेंसी): प्रमुख उत्पादक राज्यों में जीरे की तेजी से बुआई चालू है। हालांकि बुआई धीरे-धीरे अपने अंतिम चरण की ओर बढ़ रही है। अभी तक के अनुमानों के अनुसार इस बार राजस्थान में बेशक बुआई बीते वर्ष के लगभग बराबर हो जाए लेकिन गुजरात में यह 15-20 प्रतिशत घटने की आशंका है। आगामी दिनों में जीरे में लम्बी तेजी की आस नहीं दिख रही है। राजस्थान और गुजरात जैसे देश के दोनों बड़े उत्पादक राज्यों में फिलहाल जीरे की तेजी से बुआई हो रही है। गुजरात कृषि विभाग द्वारा हाल ही में जारी किए गए आंकड़ों में बताया गया है कि चालू सीजन की अभी तक की अवधि में कुल 1,31,600 हेक्टेयर में जीरे की बुआई हुई है। बीते सीजन की आलोच्य अवधि में इसकी 1,99,500 हेक्टेयर में बिजाई हो चुकी थी। इससे पता चलता है कि इस बार अभी तक जीरे की बुआई में 67,900 हेक्टेयर या 34.03 प्रतिशत की कमी बनी हुई है। विशेषज्ञों का मानना है कि राजस्थान में बेशक इस बार जीरे की बुआई बीते सीजन के लगभग बराबर हो जाए लेकिन गुजरात में इसमें 15-20 प्रतिशत की कमी आने की प्रबल आशंका है।