दूध पाऊडर में करेक्शन से लिक्विड दूध घटा : देसी घी स्थिर


नई दिल्ली, 8 दिसम्बर (एजेंसी): गत सप्ताह लिक्विड दूध के बढ़ते भाव को देखकर कम्पनियों ने दूध पाउडर के भाव 10 रुपए किलो घटा दिये। इसका परिणाम सप्ताह के अंत में दो रुपए लीटर लिक्विड दूध में मंदे के रूप में देखा गया। इस प्रयोग को सफल देखकर 10 रुपए का दूध पाउडर में और करेक्शन का आभास हो रहा है, लेकिन इस मंदे को देखकर अपना माल मंदे में काटना नहीं बनता है। वहीं देसी घी के भाव पूरे सप्ताह पूर्वस्तर पर टिके रहे तथा इसमें भी कुछ दिन के लिए तेजी रुक गयी है।दिवाली से अब तक पाउडर प्लांट संचालकों को लिक्विड दूध की किल्लत को देखकर काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था। इसे देखकर लीडर कम्पनियों ने दूध पाउडर (एसएमपी) के भाव 10 रुपए किलो एक्स प्लांट में घटा दिये। इस प्रयोग से सप्ताहांत में लिक्विड दूध के भाव सप्लायरों द्वारा क्वालिटीनुसार एक/दो रुपए घटाकर प्लांटों में टैंकर उतारे गये। अभी भी पाउडर प्लांटों को दूध पाउडर व देसी घी बनाने में चार रुपए लीटर लिक्विड दूध महंगा पड़ रहा है तथा यह प्रयोग सफल होने की स्थिति में 10 रुपए का और दूध पाउडर में मंदे का आभास होने लगा है। दूध पाउडर 36 से 38 प्रोटीन वाला 315/335 रुपए प्रति किलो के बीच बिक रहा है। एवरेज माल 290/300 रुपए हरियाणा के उत्पादक बोल रहे हैं।