राजनीतिक पार्टियों में अंदरूनी लोकतंत्र समाप्त हो रहा है : परगट सिंह


चंडीगढ़, 13 दिसम्बर (हरकवलजीत सिंह): पंजाब कांग्रेस के विधायकों में उन व लोगों को दरपेश मसले हल न होने तथा मंत्रियों की कारगुज़ारी संबंधी चल रहा विवाद उलझता जा रहा है। राजा अमरिन्द्र सिंह वड़िंग सहित कुछ विधायकों द्वारा मंत्रियों की कारगुज़ारी के आधार पर विभागों की बांट व मंत्रिमंडल के पुनर्गठन के शुरू हुए विवाद संबंधी आज पार्टी के वरिष्ठ विधायक स. परगट सिंह ने भी ‘अजीत समाचार’ के साथ बातचीत करते हुए कहा कि असल समस्या यह है कि बहुत सी राजनीतिक पार्टियों में अंदरूनी लोकतंत्र समाप्त होता जा रहा है तथा सार्वजनिक मुद्दों को विचारने के लिए ज़रूरी समय नहीं मिल रहा। उन्होंने कहा कि विधायक या नेताओं की निचले स्तर पर कई बार संतुष्टि नहीं होती तथा उनको बुलाकर या सुन कर उनके मसले हल किए जाने की ज़रूरत है लेकिन इसलिए ज़रूरी है कि मुख्यमंत्री स्तर पर ऐसी बातों के लिए ज़रूरी समय दिया जाए। उन्होंने कहा कि टीम के सदस्यों के काम में सुधार लाने की ज़िम्मेवारी टीम के कैप्टन की होती है तथा कैप्टन ने ही सदस्यों की कारगुज़ारी देखनी होती है। स. परगट सिंह ने कहा कि राज्य पर 2 लाख करोड़ का ऋण हो गया है तथा वार्षिक 19 हज़ार करोड़ रुपया हम केवल ब्याज के रूप में दे रहे हैं। इसमें कोई संदेह नहीं कि राज्य की आर्थिकता के नुक्सान का काम पिछली अकाली-भाजपा सरकार ने किया लेकिन हमें अब बैठ कर इस पर विचार-विमर्श करने की ज़रूरत है कि इसमें सुधार कैसे किया जा सकता है। स. परगट सिंह ने कहा कि आम नागरिक व पार्टी के नेता अपने क्षेत्रों व राज्य का विकास चाहते हैं तथा हर शहरी यह चाहता है कि साधारण शरीफ नागरिक को सुरक्षा मिले तथा गलत तत्वों को ढील न दी जाए तथा जो कोई अधिकारी इस पर पूरा नहीं उतरता उसके विरुद्ध कार्रवाई ज़रूर होनी चाहिए। पार्टी के एक अन्य विधायक कुलदीप सिंह वैद ने भी आज ‘अजीत समाचार’ के साथ बात करते हुए कहा कि पार्टी विधायकों में नाखुशी ज़रूर है क्योंकि उनके मसलों के हल नहीं हो रहे। उन्होंने कहा कि वह यह मसले मुख्यमंत्री के साथ शीघ्र उठाने का विचार रखते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री का यह अधिकार है कि वह जिस किसी के काम में कोई कमी या त्रुटि है वह वहां तरमीम या फेरबदल का अधिकार प्रयोग कर सकते हैं। सिद्धू के मुख्यमंत्री के साथ कुछ मसले हो सकते हैं जिनका हल होना चाहिए : स. परगट सिंह ने कहा कि पूर्व कैबिनेट मंत्री स. नवजोत सिंह सिद्धू के मुख्यमंत्री के साथ कुछ आपसी मसले हल हो सकते हैं वह हमारी सरकार के एक अच्छे मंत्री भी रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं महसूस करता हूं कि उनके साथ मसलों को विचार कर हल किए जाने की ज़रूरत है क्योंकि अच्छे व्यक्तियों की सरकार में भी ज़रूरत है तथा उनसे काम लिया जाना चाहिए।