" पाकिस्तान में पड़े रोटी के लाले " इमरान खान ने 3 लाख टन गेहूं आयात को दी मंजूरी


अमृतसर, 20 जनवरी (सुरिंदर कोछड़) पाकिस्तान में दवाईयों व टमाटरों की कमी के बाद अब आटे का संकट और गहरा गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार लाहौर, कराची व अन्य बड़े शहरों में एक किलो आटे की कीमत 70 रुपए तक पहुंच गई है। इस बारे जारी की गई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार आने के बाद आटे की कीमत में 20 रुपए की बढ़ौतरी हुई है व पाकिस्तान में चल रहे अनाज संकट के मद्देनज़र सरकार ने आज 3 लाख टन गेहूं आयात की मंजूरी दी है। बताया जा रहा है कि थोक बाज़ारों में दुकानों सेआटा गायब होने के कारण पाकिस्तान में रोटी व ब्रैड की कीमत में भारी उछाल देखा गया है। स्थिति इतनी दयनीय है कि लोगों को गेहूं के दाने-दाने के लिए मोहताज़ होना पड़ रहा है। पाकिस्तान के कुछ भागों में आटा मिलों के बाहर लोगों की कतारें लगी देखीं जा सकती हैं। यह भी बताया जा रहा है कि इमरान खान सरकार द्वारा उक्त स्थिति को देखते हुए ब्रैड बेचने वाले दुकानदारों को सरकार द्वारा निर्धारित कीमत पर ब्रैड बेचने का आदेश जारी किया गया है। सरकार के उक्त आदेश के कारण नाराज़ दुकानदारों ने अपनी दुकानें तक बंद कर दी हैं। यह भी बताया जा रहा है कि इमरान सरकार ने देश में चल रहे आटा संकट को रोकने के लिए गेहूं की आयात बारे फैसला लेने में देरी की है। पाकिस्तान के वित्त मंत्रालय के अनुसार आर्थिक तालमेल परिषद (आर्थिक तालमेल परिषद्) द्वारा गेहूं की दी मंजूरी के तहत पाकिस्तान में गेहूं की पहली खेप 15 फरवरी तक पहुंच जायेगी। पाकिस्तान सरकार ने कहा है कि वह आयात की गेहूं पर रैगूलेटरी टैक्स नहीं लगायेगी। हालांकि सरकार द्वारा यह नहीं बताया गया है कि यह गेहूं किस देश से आयात की जायेगी।