रूस के गागरिन केन्द्र में 2020 में प्रशिक्षण लेना शुरू करेंगे भारतीय अंतरिक्ष यात्री


दुबई, 18 नवम्बर (भाषा): भारत के 2022 में पहले मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन के लिए चयनित भारतीय ‘‘गगनयात्री’’ अगले साल रूस के गागरिन कॉस्मोनॉट प्रशिक्षण केंद्र में प्रशिक्षण लेना शुरू करेंगे। रूस के एक वरिष्ठ अंतरिक्ष अधिकारी ने सोमवार को यहां यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि भारत के महत्वाकांक्षी गगनयान मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन के लिए रूस भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को प्रशिक्षण देगा। 2022 में अंतरिक्ष में जाने वाले इस मिशन में तीन अंतरिक्ष यात्री होंगे जिन्हें भारतीय सशस्त्र बलों के टेस्ट पायलटों में से चुना जाएगा। रूस की रोसकॉस्मस अंतरिक्ष एजेंसी का हिस्सा ग्लावकॉस्मस के प्रमुख दमित्री लोस्कुतोव ने सोमवार को ‘दुबई एयरशो 2019’ में तास समाचार एजेंसी से कहा कि कोस्मोनॉट प्रशिक्षण केन्द्र में गगनयात्रियों की शिक्षा और प्रशिक्षण अगले वर्ष शुरू होना है लेकिन यह भारत की ओर से चयन पर निर्भर करता है कि वह आखिरकार किसका चयन करता है और प्रशिक्षण के लिए रूस भेजता है।