पुराने वाहनों पर उच्च् सुरक्षा वाली नम्बर प्लेटें लगाने की नीति न बनने का लोग भुगत रहे खामियाज़ा


लुधियाना, 17 अप्रैल (पुनीत बावा): पंजाब के अन्य शहरों की तरह उद्योग राजधानी लुधियाना में एग्रोस इम्पैक्ट इंडिया प्राईवेट लिमिटेड द्वारा नये वाहनों पर उच्च सुरक्षा वाली नम्बर प्लेटें लगाने का काम 11 मार्च से शुरू कर दिया गया है। परन्तु एक महीने से भी अधिक का समय बीत जाने पर पुराने वाहनों पर उच्च सुरक्षा वाली नम्बर प्लेटें लगाने संबंधी कोई भी नीति तैयार नहीं की गई। जिसका खमियाजा लोगों को पंजाब के पड़ोसी राज्यों में ट्रैफिक पुलिस के पास चालान कटवा कर भुगतना पड़ रहा है।उच्च सुरक्षा वाली नम्बर प्लेटों ने आम लोगों तक सबको दुखी किया हुआ है। एक और मामला सामने आया है, जिसमें एक सेवामुक्त आई.आर.एस. अधिकारी शाम लाल सभ्रवाल ने जुलाई 2014 में उच्च सुरक्षा वाली नम्बर प्लेट लगाने के लिए फीस जमा करवाई थी, परन्तु ठेका रद्द होने के कारण उसके वाहन पर उच्च सुरक्षा वाली नम्बर प्लेट नहीं लगी व जब कम्पनी ने फिर ठेका प्राप्त कर लिया है, तो सभ्रवाल ने जब कम्पनी को उसके वाहन को उच्च सुरक्षा वाली नम्बर प्लेट लगाने की बात कही तो सैक्टर 22 के आटोमैटिड ड्राईविंग टैस्ट ट्रैक पर बैठे कम्पनी के स्टाफ से बात की तो वह इस संबंधी कोई तसल्लीबख्श जवाब नहीं दे सके और उन्होंने उसको लोकसभा चुनाव के बाद आने के लिए कह कर टरका दिया है।कम्पनी के उपरेशन मैनेजर गुरप्रीत सिंह का कहना है कि नये वाहनों पर पहले प्लेटें लगाने का फैसला सरकार का है व जब सरकार द्वारा पुराने वाहनों पर उच्च सुरक्षा वाली नम्बर प्लेटें लगाने का आदेश आएगा तो वह इसको लागू करेंगे।