कनाडा चुनावी दंगल : लिबरल तथा कंज़रवेटिव सोशल मीडिया में आमने-सामने


टोरांटो, 18 अक्तूबर (सतपाल सिंह जौहल): कैनेडा में 21 अक्तूबर को होने वाले संसदीय चुनाव के प्रचार के अंतिम क्षणों दौरान लिबरल पार्टी और कंज़रवेटिव पार्टी आमने-सामने हैं और सोशल मीडिया द्वारा की जा रही इश्तिहारबाज़ी पर किन्तु-परन्तु जारी है। दो दिन पहले कंज़रवेटिव पार्टी के चीनी मूल के लोगों को सोशल मीडिया पर प्रभावित करने हेतु उनकी भाषा में की गई प्रचार मुहिम का लिबरल पार्टी द्वारा सख्त नोटिस लिया गया था। पार्टी के एक प्रवक्ता ने बताया कि कंज़रवेटिव लोगों को डरा कर तथा भेदभाव पैदा करने की राजनीति कर रहे हैं। कंज़रवेटिव इश्तिहार में चिट्टे पाऊडर के हवाले से बताया गया था कि भांग के बाद अब लिबरल पार्टी द्वारा और खतरनाक नशे भी कानूनी कर दिये जायेंगे। यह भी कि कंज़रवेटिव ही देश में नशों को रोक कर बच्चों को सुरक्षित रख सकते हैं। इसके उलट अब लिबरल पार्टी की फेसबुक इश्तिहारबाज़ी की आलोचना हुई है जिसमें बंदूक की तस्वीर के साथ कंज़रवेटिव पार्टी के विरुद्ध प्रचार किया जा रहा है कि वह असले बारे नरम नीति अख्तियार करेंगे और यदि उनकी सरकार बन गई तो गलियों-मोहल्लों में बंदूकें आम हो जाएंगी। आम तौर पर इमीग्रांट भाईचारे के लोग अपने बच्चों के (अपने देशों में नशे और हथियारों से बचा कर) अच्छे भविष्य हेतु कैनेडा में जा बसते हैं जिस कारण  राजनीतिक पार्टियां चीनी और अन्य भाईचारे में एक दूसरे से बढ़-चढ़ कर प्रचार कर रहे हैं कि गैंग, नशे, अवैध हथियार वगैरा कंट्रोल करने में कसर नहीं छोड़ी जाएगी। लिबरल नेता जस्टिन ट्रूडो दो दिन क्यूबक में प्रचार करने के बाद विगत दिवस ओंटारियो के टोरांटो एरिया में पहुंचे और लोगों को मतदान करने की अंतिम अपील की।