शब्द कीर्तन के सीधे प्रसारण संबंधी बाजवा ने जत्थेदार को सौंपा मांग पत्र


अमृतसर, 14 फरवरी (राजेश कुमार) : श्री हरिमंदिर साहिब में गुरबाणी के प्रसारण संबंधी सभी चैनलों को अधिकार देने को लेकर आज पंजाब के मंत्री तृप्त रजिंदर सिंह बाजवा ने श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह को मांग पत्र सौंपा। इस दौरान उन्होंने सिंह साहिब से मांग की कि गुरबाणी के प्रसारण का अधिकार सिर्फ पी.टी.सी. चैनल को ना देते हुए, अन्य चैनलों को भी गुरबाणी का प्रसारण करने का अधिकार होना चाहिए। इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए मंत्री बाजवा ने कहा कि गुरबाणी पूरी मानवता के लिए है, इसलिए इसके प्रसारण संबंधी अधिकार सिर्फ पी.टी.सी. टी.वी. चैनल को न होकर अन्य चैनलों को भी समान रूप से देने चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि उक्त निजी चैनल एक राजनीतिक परिवार से संबंधित है। अकाली दल टकसाली को छोड़कर अकाली दल में वापिस आये अमरपाल सिंह बोनी संबंधी बोलते हुए उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति शिरोमणि कमेटी को अकाली दल बादल से आजाद करवाने की बात करता था आज वही उनकी टोली में जाकर बैठ गया है। उन्होंने कहा कि सुखबीर सिंह बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया के खिलाफ बोलने वाला आज उनके हक्क में खड़ा हो गया है। अकाली दल बादल द्वारा गत दिवस कांग्रेस के खिलाफ की गई रोष रैली संबंधी पूछे सवाल के जवाब में स. बाजवा ने कहा कि  शिअद के प्रधान सुखबीर सिंह बादल को चाहिए कि वे अपने बजुर्ग पिता प्रकाश सिंह बादल को ऐसी रैलियों में ले जाने की बजाय उनकी घर पर सेवा करे। आम आदमी पार्टी के दिल्ली चुनावों में भारी सफलता हासिल करने के बाद पंजाब में भी चुनाव जीतने के दावों पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी का पंजाब में कोई जनाधार नहीं है और वह यहां जीत के सपने छोड़ दे। 2022 में कांग्रेस की ही सरकार दोबारा सत्ता में आयेगी।