पाकिस्तान सरकार श्री करतारपुर गलियारा के लिए एफ.आई.ए. को देगी 54 करोड़


अमृतसर, 24 मई (सुरेन्द्र कोछड़) : पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी (एफ.आई.टी.) को श्री करतारपुर गलियारे में इमीग्रेशन संबंधी सेवाए देने के लिए पाकिस्तान सरकार द्वारा 53 करोड़ 94 लाख 15 हज़ार 623 रुपए (भारतीय करंसी अनुसार 24.82 करोड़ रुपए) के फंड नवम्बर 2019 से पहले-पहले जारी किए जाएंगे। ‘अजीत समाचार’ को सूत्रों के हवाले से मिले पाकिस्तान सरकार के गृह मंत्रालय के पत्र नम्बर 2/23/2018 एम.एम.सी. में सचिव मेजर (सेवा मुक्त) आजम सुलेमान खान द्वारा उक्त सूचना इस्लामाबाद स्थित पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय, स्थापना विभाग व वित्त मंत्रालय के सचिवों के लिए जारी किए गए है। प्राप्त जानकारी अनुसार एफ.आई.ए. द्वारा श्री करतारपुर गलियारे द्वारा भारत से पाकिस्तान के ज़िला नारोवाल स्थित गुरुद्वारा श्री दरबार साहिब (करतारपुर साहिब) के दर्शनों के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं की इमीग्रेशन संबंधी जांच हेतु स्थापित किए जा रहे ट्रिमिनल, कप्यूटर कैमरे, पासपोर्ट स्कैनर, प्रिंटर, यू.पी.एस., एयर कंडीशनर, दीवार व छत वाले पंखे, जनरेटर, माइक्रोवेव ओवन, साफ पानी वाले कूलरों सहित एफ.आई.ए. के डिप्टी डायरैक्टर, सहायक डायरैक्टर, सिस्टम इंचार्ज, इंस्पैक्टर, सब इंस्पैक्टर, स्टैनो टाईपिस्ट, टैक्नीकल सहायक, सहायक सब इंस्पैक्टर, हैड कांस्टेबल, कांस्टेबलों व अन्य कर्मचारियों के वेतन आदि के लिए 60 करोड़ 94 लाख 64 हज़ार 958 रुपए (भारतीय करंसी मुताबिक 28.05 करोड़) की मांग की गई थी, जबकि पाक सरकार द्वरा 24.82 करोड़ रुपए देने ही मंजूर किए गए हैं। गलियारा के तकनीकी पक्षों संबंधी बैठक 27 को : भारत व पाकिस्तान के बीच रास्ते को लेकर गलियारे के तकनीकी पक्षों बारे ज़ीरो प्वाइंट पर 27 मई को बैठक की जा रही है। इससे पहले दोनों देशों के बीच 14 मार्च को अटारी में द्विपक्षीय समझौते बारे, जबकि 19 मार्च व 16 अप्रैल को प्रस्तावित गलियारे के तकनीकी पक्षों बारे बैठकों का आयोजन किया जा चुका है।