डॉ. ओबराय द्वारा करतारपुर रास्ते के मुख्य द्वार पर बनाया जाने वाला 'एक ओंकार' का शिलालेख होगा विशेष आकर्षण का केंद्र


पटियाला, 23 अक्तूबर - (अमनदीप सिंह) - 'सरबत का भला' चैरिटेबल ट्रस्ट के सरप्रस्त और अपनी अद्भुत सेवा कार्यशैली और खुल-दिली के कारण पूरी दुनिया में अपनी अलग पहचान बनाने वाले दुबई के प्रसिद्ध कारोबारी डॉ. एसपी सिंह ओबराय द्वारा श्री गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित करतारपुर रास्ते के मुख्य द्वार पर 30 फुट के घेरे (चौक) में तैयार करवाया जा रहा 31 फुट ऊंचा 'एक ओंकार' का शिलालेख और उस पर लगने वाली रबाब यहां आने वाले यात्रियों के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र होगा।