चूड़ल कलां हत्या मामला : धरना लगाकर इंसाफ मांगने वाली पत्नी और उसका प्रेमी ही निकले कातिल 


लहरागागा, 30 नवंबर - (गर्ग, ढींडसा, गोयल) - लहरागागा के पास के गांव चूड़ल कलां में एक सप्ताह से गायब हुए दलित व्यक्ति काला सिंह का भाखड़ा नहर से शव मिलने के बाद मृतक की पत्नी, परिवार और गांव-वासियों ने उसकी कुछ व्यक्तियों द्वारा हत्या किये जाने की आशंका प्रकट की थी और कातिलों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर उन्होंने चंडीगढ़-बुढलाडा हाईवे पर धरना लगाया था। आज इस मामले को लेकर डीएसपी लहरागागा स. बूटा सिंह गिल ने पत्रकारों के साथ बातचीत करते बताया कि इन्साफ की मांग को लेकर गांव-वासियों, परिजनों और मृतक की पत्नी ने नेशनल हाईवे पर दिन-रात धरना लगाया था परन्तु जब पुलिस ने इसकी गहराई से जांच की, तो मृतक की पत्नी गेलो कौर और उसका प्रेमी पवन कुमार निवासी चूड़ल कलां ही काला सिंह के कातिल निकले। उन्होंने बताया कि मृतक के भाई अमरीक सिंह भोला ने पुलिस को बयान दिया है कि उसके भाई को काला सिंह की पत्नी गेलो कौर और उसके प्रेमी पवन कुमार ने अपने रास्ते से हटाने के लिए उसे शराब पिलाई, जब काला सिंह बेहोश हो गया तो उसे मोटरसाइकिल रेहड़ी में डालकर पवन कुमार भाखड़ा नहर के पास ले गया और सिर पर रॉड मारकर नहर में फेंक दिया। पुलिस ने मृतक काला सिंह की पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार किया तो उन्होंने यह गुनाह कबूल किया कि काला सिंह को मारने की साजिश उन्होंने खुद ही रची था ताकि काला सिंह उनके प्रेम में रुकावट न बन सके। मृतक दो बच्चों का पिता था और पुलिस ने मृतक की पत्नी गेलो कौर और उसके प्रेमी पवन कुमार निवासी चूड़ल कलां के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस मौके पर थाना प्रमुख सतनाम सिंह चीमा, चौकी चोटियां के इंचार्ज हरमिन्दर सिंह भी मौजूद थे।