वाड्रा पर बड़ी कार्रवाई करने के मूड में है हरियाणा सरकार


चंडीगढ़, 19 सितम्बर (विशेष संवाददाता): हरियाणा सरकार रॉबर्ट वाड्रा पर बड़ी कार्यवाई में जुटी है। शिकोहपुर में वाड्रा द्वारा 7 करोड़ की जमीन सीएलयू लेकर 58 करोड़ में डीएलएफ को बेचने के मामले में प्रदेश का टाऊन एंड कंट्री प्लैनिंग विभाग फाइल में जुड़े हर दस्तावेज़ को बारीकी से खंगाल रहा है। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने आज यहां इस मामले में टिप्पणी करते हुए इसको लेकर सरकार द्वारा एक बड़ी कार्यवाई किए जाने की तरफ इशारा किया और माना कि इस मामले में अनेक अनियमितताएं हुई है। मंत्री अनिल विज ने कांग्रेस की तत्कालीन सरकार व रॉबर्ट वाड्रा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि जब हरियाणा में 2005 से लेकर 2014 तक कांग्रेस की सरकार थी उस समय केन्द्र में भी कांग्रेस की ही सरकार थी। उस समय शाही जमाई राजा ने कई प्रदेशों में बड़े-बड़े चमत्कार किए। उसी में से एक चमत्कार हरियाणा में करते हुए उन्होंने शिकोहपुर में 7 करोड़ की ज़मीन लेकर सरकार से सीएलयू ली और फिर उसे डीएलएफ को 58 करोड़ रुपए में बेच दिया। अनिल विज ने कहा कि वाड्रा ने उस समय सीएलयू का प्रॉफिट कमाया, क्योंकि कुछ ही महीने में 7 करोड़ की ज़मीन 58 करोड़ में नहीं बिक सकती। अब सरकार उसी का मुआयना कर रही है कि लाइसैंस ठीक ढंग से ट्रांसफर हुआ था या नहीं हुआ था। अनिल विज ने माना कि उस समय सीएलयू के मामलों में कई अनियमिताएं हुई थी, जिन्हें दरुस्त करना सरकार का काम है और सरकार उस प्रक्रिया पर विचार भी कर रही है।