स्वच्छता रैकिंग में पिछड़कर अंतिम 10 में पहुंचा अमृतसर रेलवे स्टेशन


अमृतसर, 15 फरवरी (हरजिन्द्र सिंह शैली) : स्वच्छता की दृष्टि में गुरु नगरी का रेलवे स्टेशन बुरी तरह से पिछड़ गया है। रेलवे मंत्रालय द्वारा देश में बनाए गए 75ए-1 रेलवे स्टेशनों में शुमार अमृतसर का रेलवे स्टेशन सफाई के लिहाज में अब अंतिम 10 रेलवे स्टेशनों में पहुंच गया है जबकि यही रेलवे स्टेशन कुछ माह पहले रेलवे मंत्रालय द्वारा करवाए गए एक सर्वेक्षण दौरान 47वें नम्बर से 26वें नम्बर पर पहुंच गया था। साफ-सफाई की सूची में अंतिम स्थान पर पहुंचने पर साफ ज़ाहिर है कि किसी भी अधिकारी ने साफ सफाई की तरफ ध्यान नहीं दिया। फिलहाल फिरोज़पुर रेलवे डिवीज़न के साथ-साथ स्थानीय अधिकारी यह पता लगाने में जुटे हुए हैं कि यह रैकिंग नीचे क्यों गई। वर्णनीय है कि रेलवे मंत्रालय द्वारा आई.वी.आर.एस. नामक एजेंसी के पास देश के सभी 75 ए-1 रेलवे स्टेशनों पर सफाई व्यवस्था का हाल जानने के लिए सर्वेक्षण करवाया था। वर्णनीय है कि कुछ माह पहले साफ-सफाई के मामले में अच्छी रैकिंग हासिल करने में स्टेशन डायरैक्टर अमृत सिंह का काफी अहम योगदान रहा था। स्टेशन को साफ-सुथरा रखने के लिए साफ-सफाई पर काफी ज़ोर दिया गया था। अब जब यह स्टेशन रैकिंग में पिछड़ गया है तो स्टेशन डायरैक्टर द्वारा अपने स्तर पर सर्वेक्षण करवाया गया तथा इस सर्वेक्षण में कई अहम पहलू सामने आए हैं, जिनके साथ अमृतसर का रेलवे स्टेशन रैकिंग में पिछड़ा था। स्टेशन डायरैक्टर अमृत सिंह द्वारा करवाए सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है कि रेलवे स्टेशन के अंदर-बाहर आने-जाने वाले मुख्य दरवाज़ों पर गंदगी के ढेर लगे हुए हैं तथा इस कारण जो यात्री यहां आते हैं, उन पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। रेलगाड़ियों का कई-कई घंटे बाहरी स्टेशनों पर खड़े रहना भी स्टेशन की रैकिंग को पिछाड़ने में मुख्य कारण बना। इसके अतिरिक्त रेलवे स्टेशन के दोनों दरवाज़ों पर बिगड़ी ट्रैफिक समस्या तथा बड़ी-बड़ी ट्रैफिक जाम भी इसकी छवी को खराब करने के मुख्य कारण बने।