गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब में जिन्ना व गांधी हुए इकट्ठे


अमृतसर, 20 नवम्बर (सुरिन्द्र कोछड़) : पाकिस्तान के ज़िला नारौवाल स्थित गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब में देश के विभाजन के बाद मोहम्मद अली जिन्ना व महात्मा गांधी को एक बार फिर से एक साथ देखा जा सकता है। चाहे  इस बात पर सहज ही विश्वास करना थोड़ा मुश्किल है, पर है यह बिल्कुल सच। असल में जहां करतारपुर गलियारा खुलने के बाद भारतीय नागरिक गलियारे के रास्ते पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए पहुंच रहे है, वहां पाकिस्तान के हिन्दू व सिख भी बड़ी संख्या में दर्शनों के लिए पहुंच रहे है। गुरुद्वारा साहिब में नतमस्तक होने के मौके जहां पाकिस्तान से पहुंची संगत द्वारा गोलक में पाकिस्तानी करंसी पर मोहम्मद अली जिन्ना के चित्र वाले हर तरह के छोटे-बड़े नोट डाले जा रहे हैं, वहीं भारत से पहुंची संगत द्वारा महात्मा गांधी के चित्र वाले 10 रुपए से लेकर 2000 रुपए तक के नोट डाले जा रहे हैं। गुरु घर की गोलक में जिन्ना व गांधी के चित्र वाले नोट एक अनोखा दृश्य पेश कर रहे हैं।